Maine To Apni Parchhai Bhi Tumhare Naam Kar Di - Hindi Romantic Shayari 2020

    Check out Latest Love Romantic Hindi Shayari 2020.

     

    Nazre Karam Mujh Par Itna Na Kar,
    Ki Teri Mohabbat Ke Liye Baagi Ho Jaaun,
    Mujhe Itna Na Pila Ishq-E-Jaam Ki,
    Main Ishq Ke Jahar Ka Aadi Ho Jaaun.

    नज़रे करम मुझ पर इतना न कर,
    की तेरी मोहब्बत के लिए बागी हो जाऊं,
    मुझे इतना न पिला इश्क़-ए-जाम की,
    मैं इश्क़ के जहर का आदि हो जाऊं।

    Hamen Seene Se Lagakar Hamari Sari Kasak Door Kar Do,
    Ham Sirf Tumhare Ho Jaye Hamen Itna Majaboor Kar Do.

    हमें सीने से लगाकर हमारी सारी कसक दूर कर दो,
    हम सिर्फ तुम्हारे हो जाऐ हमें इतना मजबूर कर दो।

     

    Apni Kalam Se Dil Se Dil Tak Ki Baat Karte Ho,
    Seedhe Seedhe Kah Kyon Nahin Dete Ham Se #Pyar Karte Ho.

    अपनी कलम से दिल से दिल तक की बात करते हो
    सीधे सीधे कह क्यों नहीं देते हम से #प्यार करते हो।

    Maine To Apni Parchhai Bhi Tumhare Naam Kar Di - Hindi Romantic Shayari 2020

    Ghayal Kar Ke Mujhe Usne Poochha,
    Karoge Kya Phir Mohabbat Mujhse,
    Lahoo-Lahoo Tha Dil Mera Magar
    Honthon Ne Kaha Beintha-Beintha.

    घायल कर के मुझे उसने पूछा,
    करोगे क्या फिर मोहब्बत मुझसे,
    लहू-लहू था दिल मेरा मगर
    होंठों ने कहा बेइंतहा-बेइंतहा।

     

    Nigahon Se Kheechi Hai Tasveer Maine,
    Jara Apni Tasveer Aakar To Dekho,
    Tumhin Ko In Aankho Mein Tumko Dikhaoon,
    In Aankho Me Aankhe Milakar To Dekho.

    निगाहों से खीची है तस्वीर मैने,
    जरा अपनी तस्वीर आकर तो देखो,
    तुम्हीं को इन आँखो में तुमको दिखाऊँ,
    इन आँखो मे आँखे मिलाकर तो देखो।

     

    Bin Bole Jo Tum Kahte Ho,
    Bin Bole Hi Wo Sun Loon Main,
    Bharke Tumko In Aankhon Mein,
    Kuchh Khwaab Naye Se Bun Loon Main.

    बिन बोले जो तुम कहते हो
    बिन बोले ही वो सुन लूँ मैं,
    भरके तुमको इन आँखों में
    कुछ ख्वाब नए से बुन लूँ मैं।

     

    Nahin Hai Ab Koi Justaju Is Dil Mein E Sanam,
    Meri Pahli Aur Aakhiri Aarzoo Bas Tum Ho.

    नहीं है अब कोई जुस्तजू इस दिल में ए सनम,
    मेरी पहली और आखिरी आरज़ू बस तुम हो।

     

    Khade-Khade Sahil Par Hamne Shaam Kar Di,
    Apna Dil Aur Duniya Aap Ke Naam Kar Di,
    Ye Bhi Na Socha Kaise Guzaregi Zindagi,
    Bina Soche-Samjhe Har Khushi Aapke Naam Kar Di.

    खड़े-खड़े साहिल पर हमने शाम कर दी,
    अपना दिल और दुनिया आप के नाम कर दी,
    ये भी न सोचा कैसे गुज़रेगी ज़िंदगी,
    बिना सोचे-समझे हर ख़ुशी आपके नाम कर दी।

     

    Maine Har Ek Saans Apni Tumhare Naam Kar Di,
    Logo Mein Ye Zindagi Badnaam Kar Di,
    Ab Ye Aaina Bhi Kis Kaam Ka Mere,
    Maine To Apni Parchhai Bhi Tumhare Naam Kar Di.

    मैंने हर एक सांस अपनी तुम्हारे नाम कर दी,
    लोगो में ये ज़िन्दगी बदनाम कर दी,
    अब ये आइना भी किस काम का मेरे,
    मैंने तो अपनी परछाई भी तुम्हारे नाम कर दी।

    0 Comments